Saturday, 11 August 2018

Home Mobile Tips Mobile Root Karne ke Fayde aur Nuksan Kya Details Me !

Home  Mobile Tips  Mobile Root Karne ke Fayde aur Nuksan Kya Details Me !

 

हेलो guys आज इस पोस्ट में हम जानने वाले है कि mobile phone root karne ke fayde aur nuksan के बारे में क्यों कि आज सिर्फ मोबाइल्स से पैसे कमाने के लिए और हैकिंग के लिए लोग अपने एक ब्रांडेड फ़ोन को root कर के उसकी वैल्यू को जीरो कर दे रहे है लेकिन आज हमारे बहोत से readers को मोबाइल root के बारे में ज्यादा जानकारी नही है और वो अपने मोबाइल को root कर देते है और बाद में उन्हें पछतावा होता है कि उन्होंने ऐसा क्यों किया तो आज हम जान लेते है कि mobile phone ko root karne ke fayde aur nuksan के बारे में।

दोस्तो हम पहले बात कर लेते है कि mobile को root करने के फायदे क्या क्या क्या हौ mobile ko roo करने से हमे क्या क्या additional features मिलते है जो हमे without root phones में नही मिलता है।

1- जब हम किसी mobile को root करदेते है तब company द्वारा दी गयी OS यानी operating system से लेकर उसके processor तक हर एक limitation हट जाती है और हम उससे वो access कर पाते है जिसे हमे access करने की permission नही होती है जैसे हम उन apps के बहोत सारे duplicates बना सकते है जो कि बिना root हुए फ़ोन में नही बना सकते हम वो file open कर सकते है जो कि ओपन करने की permission नही होती और हम आने phone में बहोत सी additional settings भी कर सकते है।

2- phone को root करने के बाद आप देखेंगे कि आपके device की performance और battery life बढ़ गयी होगी और आप उसे पहले से better तरीके से उसे कर पाएंगे।

3- Root करने के बाद आप अपने mobile में incompetible apps को भी install कर सकते है जिसे आप बिना root devices में install नही कर पा रहे थे ये वो apps होते है जो बहोत ज्यादा old version के होते है और सिर्फ new version को ही install करने की permission कंपनी आपको देती है।

4- Mobile को root करने के बाद आप उसमे से system apps को uninstall कर सकते है जो कि normal device यानी without root device में कभी भी possible नही होता है जैसे आप camera, chrome,mobile browser,gmail और भाई ऐसे inbuilt और system apps है जिसे कोई भी company uninstall का ऑप्शन नही देती है लेकिन आप rooted device में उसे आसानी से uninstall कर सकते है।

5- इसमे आप अपने device को new look दे सकते है अपने हिसाब से हर चीज customize कर सकते है कलर और कोई भी design दे सकते है अपने device का कमपनी नाम के साथ साथ device id और imei number भी चेंज कर सकते है जो कि एक device की real id होती है और बहोत सारे apps भी आपको इसी से track करते है और जब आप इसे ही change कर देंगे तो simply कोई भी आपको ट्रैक नही कर पायगा की आप वो ही इंसान है जिसने पहले यहां पे register कर चुका है।

पहले हमने जाना कि mobile ko root karne के क्या क्या फायदे है लेकिन हर एक चीज के फायदे है तो उसके नुकसान भी है जो हमे जानना बहोत जरूरी है जिसे हम अपने ध्यान में रखकर decide करे कि आपको अपना device root करना है या नही।

1- Root करने के पूरे process के दौरान हमारा phone बिल्कुल damage मतलब बिल्कुल kharab हो सकता है और वो onn भी नही होगा क्यों इस process में हमारे processor और ram पे बहोत इफ़ेक्ट पड़ता है जिससे वो खराब हो जाते है कि बार वो succesfull root तो हो जाते है लेकिन कुछ months के बाद work करना बंद कर देते है।

2- अगर आपने new फ़ोन लिया है जिसको अभी एक साल नही हुआ है और वो अभी warannty में है और आप उसे root कर देते है तो आप उसकी warannty को खोदेते है और उससे दौरान अगर आपका phone खराब हो जाता है और आप उसे company में ठीक कराने के लिए ले जाते है तो वहां पे उसकी warannty accept नही की जायेगी और आपसे उसके पूरे पैसे लिए जाएंगे।

I hope आपको समझ मे आ गया होगा कि mobile ko root karne ke fayde aur nuksan क्या क्या है तो अगर आपको इससे जुड़ी कोई भी समस्या है तो आप नीचे कमेन्ट जरूर करे।

Google Adsense Me Website URL Kaise Add Kare (Full Guide)

Google Adsense Me Website URL Kaise Add Kare (Full Guide)

 Google adsense account me website url kaise add kare full guide is post me dene wale hai. Google adsense multiple account allow nahi karta but users kya karte hai youtube channel monetization enabled hone ke baad me jab website create karke ek aur new adsense account create kar lete jise adsense account details match kar leta aur google adsense account suspended ho jata hai. Google adsense sabse accha tarika hai website se paise kamane ke liye but problem ye hai user adsense privacy policy follow nahi kar pate jiski wajah se adsense approval nahi mil pata hai.

Adsense account me website url kyo add kare soch rahe hai agar apke pass pahle se google adsense approved mila hai to bs website url add karne se apki site par ad dikhai dene lagega, Google adsense account 2 type ke hote adsense hosted or non hosted, Adsense hosted account Blogspot, YouTube or HubPages approved milne milta hai, Domain name like .com .net or .in adsense me site url add karne par Non-hosted Account me convert ho jata hai.

Google adsense account me new website url ko kaise add kare is post ko follow karke aap multiple site url add kar payeng.Agar apke pass 1 se adhik website hai aur sabko single adsense account se link kare payenge.



Important bat yeh hai apki sabhi blog different category ki honi chahiye kisi par copyright content na ho warna adsense account ek par band hoga to sabhi site par ads nahi dikhega

 Google Adsense Me Website URL Kaise Add Kare


Sabse pahle adsense account logging kare.

Left side me setting icon par click kare.
Persona setting → My Site par click kare.
Manage sites me + icon dikhega us par click karna hai.
New site Url :- Apna website url likhe (Custom domain name important hai)
ADD SITE Button Par Click Kare.

Adsense Account Me Multiple Website Kaise Add
Ab apne successfully website url adsense me add kar liya kuch der bar apke site par google adsense ke ad show hone lagega. Is tarah se multiple website/blog ko adsense se link karke paise kama sakte hai.

Keyword Cannibalization क्या है (Full Information Hindi Me)

Keyword Cannibalization क्या है (Full Information Hindi Me)

नमस्कार अगर आप एक Blogger है तो आपको  keyword क्या होते है ? और इनका हमारे ब्लॉग में का उसे होता है ये तो पता ही होगा लेकिन क्या आपको पता है कीkeyword Cannibalization क्या है ? और क्या नुकसान होते है ? हमारे Blog या साइट पर तो चलिए आज के पोस्ट में keyword Cannibalization के बारे में Detail में जानते है।


Keyword Cannibalization Hai

अगर आप एक ब्लॉगर है और आप अपने ब्लॉग में SEO बहुत अच्छा कर रखा है और और आपने Blog में Content भी बहुत Useful और अच्छा पोस्ट करते हो फिर भी अगर आपके आर्टिकल google के 1 page पर Rank नहीं हो रहे तो आपको एक बार अपने साइट को चेक करना है और ये search  करना है की कहि आपकी website/blog keyword Cannibalization का Use तो नहीं कर रह है।

keyword Cannibalization ये एक ऐसा Wrong SEO है जो हमारे ब्लॉग की Ranking को कुछ ही दिनो मे 1 पेज से Last पेज में ला सकता है जो हमारे साइट के लिए बहुत ही ख़तरनाक है। और अगर आप को अपने ब्लॉग को popular या Famous बनाना है तो आपको इस तरह के SEO से अपने ब्लॉग को बचना पड़ेगा।

keyword Cannibalization क्या है ?

जब आप अपने ब्लॉग को Create करते है तो आप एक Topic पर अपना ब्लॉग बनाते है परन्तु अगर यही सभी काम आप आपने ब्लॉग के पोस्ट के साथ करते है जो आपके ब्लॉग के लिए ये बहुत ही Loss का कारण बन सकता है। जैसे की आपने अपने ब्लॉग में एक कीवर्ड पर पोस्ट एक से ज्यादा पोस्ट लिखी और उन सभी पोस्ट में आपने Same SEO टेक्निक को use किया है तो वो पोस्ट आप जब गूगल में Index कर देते है।

आपकी कोई भी पोस्ट आपके Target कीवर्ड पर रैंक नहीं होगी चाहे आपके ब्लॉग में आपने कितने ही seo कर लिए है या आपके ब्लॉग की कितनी भी दूसरे ब्लॉग में बैकलिंक हो परन्तु आप उन पोस्ट को रैंक नहीं कर सकते और जो पोस्ट आपके रैंक है वो भी अपनी Ranking खो देंगे। Keyword Cannibalization के बारे में कुछ Example के दुवारा समझते है

Example:- जैसे एक वार्ड में उम्मीदवारों का चुनाव हो रहा है टब वाद में एक सबसे ज्यादा मजबूत उम्मीदवार और उसके सामने कुछ छोटे छोटे उमीदवार एक साथ होकर चुनाव लड़ते है तो मजबूत उंमीद्वार चुनाव हर जाता है क्योकि उसके सामने जो छोटे छोटे उम्मीदवार थे वो एक साथ थे जिस से वे उस को चुनाव में हरा देते है।


और ठीक ऐसा ही आपके ब्लॉग के साथ होता है जब आप एक ही कीवर्ड के बहुत सारे आर्टिकल लिखते है जो आपके Rank आर्टिकल की रैंकिंग भी डाउन कर देते है और साथ ही अपनी भी रैंकिंग डाउन कर लेते है जिस से आपका ब्लॉग कुछ ही दिनों में 1 रैंक से लास्ट में आजाता है। ऐसे रैंकिंग क्यों डाउन होती है 

ऐसा इसलिए होता है की गूगल किसी भी Domain से केवल 1 या 2 आर्टिकल को रैंक करता है और अगर आपके  ब्लॉग की डोमेन अथॉर्टी ज्यादा होगी तो वो आपके ब्लॉग से 3 आर्टिकल को सर्च में 1 पेज पर रैंक करेंगा और अगर आपके एक ही डोमेन में एक ही कीवर्ड पर बहुतसारे आर्टिकल है तो ये गूगल के नियमो के खिलाफ है और इससे Google आपका कोई भी Post First Page पर रैंक नहीं करेगा।  और आपके Rank पोस्ट कभी रैंकिंग डाउन कर देगा।

Conclusion

तो आपको लास्ट में यही कहना चाहता हु की अगर आप भी अपने ब्लॉग में keyword Cannibalization का Use करते है तो आपको आज ही ऐसा करना छोड़ देना चाइये क्योकि आप ऐसा करते है तो आपको गूगल बिना किसी चेतावनी के आपके wabsite को block कर देगा और फिर आप उस डोमेन नाम की साइट को कभी भी रैंक नहीं कर पाएंगे परन्तु अगर आप अपने Wabsite पर इसका उसे नहीं करते है तो हो सकता है की कोई आपका पोस्ट भी गूगल के Fist पेज के Fist लिंक में show हो।

तो अगर आप को लगता है की आज के इस पोस्ट में हमने बहुत मेहनत कर के आपके लिए ये Unique Post लिखा है और हम आपको आपकी दोस्ती के काबिल लगते है तो आप इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे और आप ऐसे ही Unique Technical आर्टिकल रोजाना पढ़ना कहते है तो हमारे ब्लॉग Nuswami Technical को सब्सक्राइब जरूर करे

Thunk You !…

Best 6 Ways to Get Rid of Negative Energy and Become Positive

Best 6 Ways to Get Rid of Negative Energy and Become Positive

एक कहावत है “Life is not a bed of roses” .जिन्दगी फूलों की सेज नही बल्कि दुख और सुख से भरा हुआ अनुभव हैं। दुनिया मे हर कोई किसान न किसी समस्या से जुझ रहा हैं ।कोई अपने career को लेकर,कोई अपनी study की वजह से ,तो. कोई अपने रिश्तों को लेकर,किसी की financial condition ठीक नहीं हैं ,तो किसी को किसी को किसी ने धोखा दें दिया।न जाने ऐसी कितनी problems और situations हमारी life को प्रभावित करती
हैं।जिसका हमारे मन पर बहुत गहरा असर पड़ता हैं। जिसकी वजह से हम negativity का शिकार हो जाते हैं हम चाहकर भी उन experiences से बाहर नहीं निकल पाते और हम जिन्दगी मे आगे नहीं बढ़े पाते ,बार बार regret feel करते हैं। अब हमारे सामने दो तरीके है पहली हम पूरी जिन्दगी अपने हालात पर रोते रहे और दूसरी positive. सोच और positive energy के साथ अपने हालात. को बदलने की कोशिश की जाये। ऐसा करना हर. किसी. के लिए आासन तो. नहीं है लेकिन यदि हम strong determination के साथ कोशिश करे तो

ऐसा हो सकता हैं। अमेरिका के प्रसिद्ध writer और motivational speaker Norman Vincent peale negativity को दूर करने के लिए कहते हैं “Feel freedom free from worries spread happiness,help others”.
Negativity को दो तरीकों से दूर किया जा सकता है पहला temporary solution मतलब हम कुछ देर के लिए अपने दिमाग को अपनी problem से हटाकर कहीं और लगा दे जैसे T.V. देखना जाने सुनना ,गेम खेलना,कही घूमने जाना लेकिन इन सब से होगा क्या हम थोड़ी देर के लिए तो relax हो

जायगे लेकिन फिर थोड़ी देर बाद फिर उसी problem से घिर जायेगे ।
और दूसरा तरीका यह की हम अपनी problem का permanent solution ढूँढे । तो ऐसे कौन कौन से तरीके हो सकते है जिससे हम अपनी नकारात्मक सोच से बाहर निकलकर positive सोच के साथ एक happy life जी सकते हैं –

6 Ways to Get Rid of Negative Energy and Negative Energy in Hindi


1) आप अपनी problem को face करीये समस्याओं से भागना समस्याओं का हल नही होता इससे वे और बढ़ती हैं उनका सामना करते हुए solution तलाशीये कहते है हर समस्या आपने साथ समाधान लेकर आती हैं.हमे problem पर नही solution पर focus करना चाहिये। जैसे यदि हमें पैसे की दिक्कत है तो हम दिनभर ये सोचते रहे की हमारे पास पैसे नही हैं तो क्या हम कभी पैसे कमा पायेगे तो आपको ये नही सोचना की आपके पास पैसे नही है बल्कि आपको साइन तरीके के बारे मे सोचना है जिन्हें आप पैसे कमा सकते हैं।



2) खुद पर भरोसा करीये आप अपने काम करने के तरीके के तरीके के प्रति positive रही ये आपने अपने goal को पाने के लिए जिस method को चुना है उसके हर एक concept को clear रखिए इससे आपकाconfidence buildup होगा।

3) आप ने जिस वक्त जो काम करने के लिए सोचा हैं आप उसी वक्त उसके लिए जरूरी कदम उठाए जैसे आप अपने study hour को बढ़ाना चाहते है 2से 4 घंटे करना चाहते हैं तो तो इसके लिए आपका पहला कदम एक timetable बनाना होगा जिसे आप regular fellow कर सके । सही समय पर सही action लें ।

4) हम life मे अक्सर दूसरे की वजह से ज्यादा और अपनी वजह से कम परेशान रहते हैं हम दूसरे को वैसे देखना चाहते है जैसे हम चाहते हैं ।और ऐसा नहीं होने पर हम दुखी होजाते हैं।जरा सटोरियों क्या हम अपने आप को वैसा बना सकते हैं जैसा दूसरे चाहते हैं ,शायद नहीं ।तो फिर हम किसी और से expectations रखकर खुद को दुखी कि ये करें।बने लोगों को उनकी अच्छाइयों और बुराइयों के साथ except करना चाहिए वह जैसा है उसे वैसे ही अपनाये।आप perfect इंसान मत तलाश करीये बल्कि imperfect लोगों के साथ रिश्ता perfect बनाइये।

5) हमारी सोच बहुत हद तक हमारे माहौल उसमें रह रहे लोगों हमारे friend circle से प्रभावित होती है ।हमें ऐसे लोगों के साथ रहना चाहिये जो अपनी विपरीत परिस्थितियोंपर विजय पाई हो ।हमें उनसे प्रेरणा मिलती हैं ।हमें अपने friends के साथ positive रहे खुद को और उन्हें motivate करें।

6) दुनिया मे वक्त के साथ हो रहे बदलावो को except करीये अपने आप को उनके according ढालने की कोशिश करिये बदलाव दो तरीके के होते है एक तो वे जो आपको गलत रास्ते पर ले जाते हैं और दूसरा वो जो हमें सही रास्ते पर ले जाता हैं।बने उन positive changes को except करना हैं जो हमारी life को बेहतर करने के लिए जरूरी हैं। समय की जरूरत को देखते हुए खुद को update करिये। वरना आप खुद को दूसरों से पीछे महसूस करेंगे ।जिससे आप के अन्दर negativity आयेगी और आप depression का शिकार होंगे। इसलिए वर्तमान मे जीए ।

15 अगस्त क्यों मनाया जाता है आइए जानते हैं इस बारे में ?

15 अगस्त क्यों मनाया जाता है आइए जानते हैं इस बारे में ?


15 अगस्त का दिन हम सब भारतीयों के लिए एक महत्वपूर्ण और खास दिन होता है। लगभग 200 सालों तक अंग्रेजों की गुलामी करने के पश्चात और लगभग हजारों लोगों द्वारा कुर्बानी देने के बाद देश इसी दिन आजाद हुआ था। यह दिन हम सभी भारतीयों के लिए यह अहम दिन था जिसे कभी भी भुलाया नहीं जा सकता। क्योंकि यही वह दिन है जिस दिन पूरे देश को गुलामी से छुटकारा मिला था।
दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं कि 15 अगस्त 1947 को हमारा प्यारा देश भारत ब्रिटिश साम्राज्य से स्वतंत्र हुआ था। इसी के उपलक्ष में हर साल के 15 अगस्त को पूरे देश में अवकाश रखा जाता है तथा स्वतंत्रता दिवस के पर्व को उत्साह के साथ मनाया जाता है। इस दिन सभी सरकारी तथा गैर सरकारी स्कूलों तथा संस्थानों में तिरंगा फहराया जाता है तथा मिठाइयां बांटी जाती है इसके साथ साथ रंगारंग कार्यक्रमों का आयोजन भी होता है। कुल मिलाकर इस दिन पूरा देश खुशियों में डूबा होता है।
लेकिन 15 August के दिन का पर्व सिर्फ इसी से पूरा नहीं होता है कि हम झंडा फहराएं तथा मिठाइयां बाँटें और खुशियां मनाएं। यह दिन खास तौर पर उन वीरों के लिए होता है जिन्होंने इस देश को स्वतंत्र कराने के लिए अपनी जान की कुर्बानी दे दी। हम सभी इस दिन अपने देश के वीर सपूतों को याद करते हैं और उन्हें श्रद्धांजलि भी अर्पित करते हैं। जब हम देश के उन जवानों को याद करते है तो आंखें नम हो जाती है। आपको तो वह नाम याद ही होंगे मंगल पांडे, राजगुरु, भगत सिंह, चंदशेखर आजाद, सुभाष चंद्र बोस इत्यादि, जिन्होंने इस देश के लिए अपने लहू की आहुति देकर आजाद करवाया।

दोस्तों ये वही देश के बेटे हैं जिनके कुर्बानी के बदौलत आज हम सभी खुली हवा में स्वतंत्रता की सांस ले पा रहे हैं। अन्यथा शायद आज भी हम अंग्रेजों की गुलामी से मुक्त नहीं हो पाते। जब हम अपने देश के इन वीरों को याद करते हैंं तो हमारा सीना गर्व से चौड़ा हो उठता है तथाा इसके साथ साथ हमें इन वीरों के व्यक्तित्व और बलिदान से देश के लिए मर मिटनेे की प्रेरणा भी मिलती है।
Independence day इसलिए भी खास है और हम सब को इसलिए भी मनाना चाहिए क्योंकि इससे हम सभी देशवासी अपने गुलामी के दिनों को याद करते हैं तथा मन में यह संकल्प लेते हैं कि फिर दोबारा कभी हम अपने हाथ से स्वतंत्रता को जाने नहीं देंगे। हजारों-लाखों खून बहाने के बाद तथा 200 सालों तक परतंत्र रहने के बाद हम सबको जो बेशक़ीमती आजादी मिली है हम उसकी हमेशा रक्षा करेंगे। हमें स्वतंत्रता दिवस मनाने से देश की सुरक्षा तथा स्वतंत्रता की रक्षा के लिए अपने जिम्मेदारियों का पालन करने की ताकत भी मिलती है। हम सभी बतौर देश के नागरिक अपने देश के प्रति जिम्मेदार बनते हैं।
 15 अगस्त यानी कि स्वतंत्रता दिवस का दिन तब और भी खूबसूरत बन जाता है जब लाल किले के प्राचीर से भारत का प्रधानमंत्री देश को संबोधित करते हैं। उस दिन बड़ा ही मनोरम उत्साहवर्धक दृश्य होता है लाल किले के प्राचीर का। क्योंकि उस दिन हजारों लाखों की संख्या में लोग लाल किले के पास प्रधानमंत्री का भाषण सुनने के लिए उपस्थित होते हैं। एक बड़े स्तर पर कार्यक्रम का आयोजन होता है तथा हमारे जल, थल और वायु तीनों सेनाओं की टुकड़ियां भाग लेते हैं तथा करतब दिखाती है। ऐसे में निसंदेह यह दिन हमारे लिए खुशी का होता है, गौरव का होता है तथा गर्व का होता है।
लेकिन यह खुशियां, यह गौरव और यह गर्व का आनंद तो हम ले ही लेंगे। पर हम सभी देशवासियों का पहला कर्तव्य यह बनता है कि सबसे पहले हम अपने उन वीर देश के सपूतों को याद करें जो हमारे इस खूबसूरत पल के लिए फांसी के फंदे तक को चूम लिया। यह दिन खास तौर पर सबसे पहले उनके लिए होता है जिन्होंने इस देश के आजादी के लिए जान दी। जिनकी वजह से आज हम 15 अगस्त मनाते हैं। हमें उन शहीदों और उन बलिदानियों को हमेशा याद रखना चाहिए तथा उनसे प्रेरणा लेनी चाहिए।
 जय हिंद !


भारत का स्वतंत्रता दिवस – Independence Day History in Hindi

भारत का स्वतंत्रता दिवस – Independence Day History in Hindi

यह दिवस भारत में स्वतंत्रता दिन के रूप में मनाया जाता हैं ।
क्योंकि 15 August के दिन ही अपना भारत देश आजाद हुआ था वह दिन था 15 August 1947 !ब्रिटिश सरकार ने अपने भारत देश पर 200 साल तक शासन किया । महान लोग और भारत के सेनाओं के द्वारा ही अपना देश आजाद हो पाया ।

15 अगस्त को ही क्यों मनाया जाता है ( स्वतंत्रता दिवस की जानकारी )
सर्व प्रथम भारत के पहले पंतप्रधान मंत्री पंड़ित जवाहरलाल नेहरू थें जिनके द्वारा 15 August 1947 को दिल्ली के लाल किले के लाहोरी गेट के उपर भारत का तिरंगा फहराया गया था ।

15 August को हर Work Place पर , स्कूल , काॅलेज , कार्यालय पर भारतीय तिरंगा फहराया जाता हैं । लेकिन दिल्ली में प्रधानमंत्री द्वारा तिरंगा फहराया जाता हैं । साथ ही 21 तोपों की सलामी भी दी जाती हैं । तत्पश्चात प्रधान मंत्री द्वारा भाषण होता हैं जोंकि सबके लिए प्रेरणादायक होता हैं ।
कहीं सांकृतिक कार्यक्रम होते हैं । कई लोग विभिन्न कला़ में निपुण होते हैं तो वो भी प्रदर्शित किया जाता हैं । कहीं पुरस्कार भी दिए जाते हैं ।
जो अपने देश के लिए शहिद होते हैं उनकों भी भावपूर्ण श्रध्दाजंली दी जाती हैं ।
इस दिन बच्चे अपने घरों के छत पर पंतगे भी उड़ाते हैं ।

दिवस 15 अगस्त की शायरी – Independence Day Shayari 2018

दिल्ली में खासकर कें 15 August के दिन आंतकवादी का खतरा मंड़राता हैं । इसलिए लालकिले पास पूर्णरूप से सुरक्षा का विशेष खयाल रखा जाता हैं ।
ये भारत का राष्ट्रीय त्यौहार हैं । इस दिन स्कूल , कार्यालय , दुकाने सबको अवकाश होता हैं । कोई पिकनिक मनाने भी जाते हैं । तो कोई खेल प्रतियोगिता में भाग लेता हैं ।

महत्व –

महात्मा गाँधीजी के नेतृत्व में जब भारतीय स्वतंत्रता युध्द में लोगों ने बड़ी जिद्दोजहद के साथ बिना किसी हिंसक क्रिया के सबने सविनय अवज्ञा आंदोलन में भाग लिया ।
अग्रेजों के अत्याचारों और अमानविय व्यवहारों से त्रस्त भारतीय जनता एक जुट होकर मिलकर रहने लगीं और भगतसिंह , चंद्रशेखर आजाद , सुभाषचंद्र बोस , इन सब ने अपने प्राणों की आहूती दीं ।
सरदार वल्लभभाई पटेल , गांधी जी , नेहरूजी ने बिना हथियारों की लड़ाई लड़ी , जेल गये , सत्याग्रह किया , आखिरकार अंग्रेजों को भारत छोड़ कर जाने को मजबूर किया । तत्पश्चात 15 August 1947 को हमारा भारत हमारा हुआ ।

संदेश –

हमारे देश के युवाओं को शांति के बारें में सोचना चाहिए । ऐसे लोगों के बहकावे में ना आए जिससे दुसरे देशों के नुकसान / लड़ाई का सामना करना पड़े । हमे आजादी इतनी आसानी से नहीं मिलती ।

हमारें देशको फिर से विभाजित कर के पाकिस्तान बनाया फिरसे विस्थापन की समस्या खड़ी हो गयी ! मोहम्मद अली जिन्ना ने मांग की कि मुस्लिम समुदाय के लिए एक अलग देश पाकिस्तान बनाया जायें जहाँ मुस्लिम रहें । 72266000 मुसलमान भारत छोड़कर पाकिस्तान चले गयें । और 7249000 हिंदू और सिख पाकिस्तान छोड़कर भारत आ गयें । 15 August भारत के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण दिवस हैं ।

Home Mobile Tips Mobile Root Karne ke Fayde aur Nuksan Kya Details Me !

Home  Mobile Tips  Mobile Root Karne ke Fayde aur Nuksan Kya Details Me !   हेलो guys आज इस पोस्ट में हम जानने वाले है कि mobile phone r...